Pregnancy Tips: Fitness tips every pregnant woman should know so as to give a safe, healthy birth |

0
135
pregnancy-tips
pregnancy-tips

Pregnancy tips for healthy baby, Pregnancy tips and advice, Pregnancy tips and ticks, Pregnancy tips for first-time moms in hindi , Pregnancy tips for normal delivery

Pregnancy Tips

माँ बनाना हर औरत का सबसे बड़ा सपना होता है हर एक माँ एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देना चाहती है |
The Journal of Perinatal Education के एक अध्ययन की अनुसार विज्ञानं और टेक्नोलॉजी ने काफी तरक्की कर ली है लेकिन इस तरक्की के बावजूद गर्भवती महिला और उसके बच्चे को कई हेल्थ प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है |
मिलबैंक मेमोरियल फंड, एविडेंस-बेस्ड मैटरनिटी केयर: व्हाट इट इज़ एंड व्हाट इट कैन अचीव (सकला एंड कोरी, 2008) द्वारा प्रकाशित एक अन्य हालिया रिपोर्ट के परिणामों से पता चला है कि शिशु का जन्म माताओं और शिशुओं के लिए जितना सुरक्षित होना चाहिए, उससे कम सुरक्षित है।

हमें experts ने कुछ method बताएं हैं जिनका प्रयोग करके हम माँ और शिशु को और भी अधिक सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं | उन सभी methods पर चर्चा करना अति आवश्यक है कि एक सुरक्षित, स्वस्थ जन्म के लिए प्रत्येक गर्भवती महिला को क्या जानना चाहिए। अपने बच्चे की सुरक्षित और स्वस्थ डिलीवरी सुनिश्चित करना चाहते हैं?

Pregnancy Tips for safe and healthy delivery by a doctor: 

गुरुग्राम के सीके बिड़ला अस्पताल की वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ और प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ अरुणा कालरा ने कहा है की , “एक सुरक्षित और स्वस्थ शिशु को जन्म देने के लिए यह अति आवश्यक है की प्रत्येक गर्भवती महिला को अपनी गर्भावस्था के बारे में पता चलते ही अपना ख्याल रखना शुरू कर देना चाहिए ताकि वह अपनी गर्भावस्था के बारे में जान सके और वह अपने अंदर पल रहे बच्चे की अच्छी देखभाल कर सके ।”

एक गर्भवती महिला के लिए अति आवशयक है की वह अपनी नियमित स्वास्थ्य जांच कराए , स्वस्थ आहार ले , उचित दवाएं लें और सावधानियां बरते यह एक स्वस्थ प्रसव के लिए अति आवश्यक हैं।”

pregnancy-tips
pregnancy-tips

यह बोहत आवशयक है की गर्भवती महिला हमेशा खुश रहे और किसी भी तरह की चिंता या परेशानी से दूर रहे | डॉ अरुणा ने जोर देकर कहा कि , “गर्भावस्था के दौरान, एक महिला के शरीर में कई मनोवैज्ञानिक परिवर्तन होते हैं।
आप तनाव और चिंता से खुद को दूर रखें ताकि आप अपने रास्ते में आने वाली किसी भी चुनौती को दूर कर सकें । हर गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा को अपने आप शुरू होने देना चाहिए, इससे पता चलता है की बच्चा पैदा होने के लिए तैयार है।”

डॉक्टर अरुणा ने सुझाव देते हुए कहा कि हर गर्भवती महिला को प्रसव के दौरान घूमना, चलना और स्थिति बदलना चाहिए, डॉ अरुणा ने खुलासा किया कि , “इससे उसे प्रसव पीड़ा सहने में मदद मिलती है और बच्चा धीरे-धीरे श्रोणि की ओर सरकना शुरू कर देता है । हमें गर्भावस्था की सभी स्वस्थ आदतों का पालन करना चाहिए ताकि हम सुरक्षित और स्वस्थ प्रसव और जन्म के लिए तैयार रहें !”

Pregnancy Tips for safe and healthy delivery by a fitness expert:

pregnancy-tips-for-healthy-baby
pregnancy-tips-for-healthy-baby

Nutritionist, Dietician and Fitness Expert मनीषा चोपड़ा का कहना है कि गर्भवती माताओं के लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि एक safe और healthy delivery के लिए यह अति आवशयक है की हम पोषण से भरपूर भोजन लें और नियमित रूप से व्यायाम करें | पौष्टिक भोजन और व्यायाम प्रसव के समय एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
वह कहती हैं की गर्भवती महिलाओं को बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए प्रति दिन लगभग 300 कैलोरी अधिक की आवश्यकता होती है, मनीषा ने समझाया, “आप जिन पोषक तत्वों का सेवन करती हैं, वे सीधे बच्चे के विकास मे योगदान करता हैं। कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, फोलिक एसिड आदि सभी एक गर्भवती महिला के लिए अति आवश्यक हैं। इसलिए, अपने आहार में बहुत सारी सब्जियां, फल, साबुत अनाज की ब्रेड और कम वसा वाले डेयरी उत्पादों को हमेशा शामिल करना चाहिए ।”

मनीषा चोपड़ा का सुझाव है कि गर्भवती महिलाओं को हाइड्रेटेड रहने के लिए ढेर सारा पानी पीना चाहिए और अन्य तरल पदार्थ जैसे सूप, नारियल पानी, ताजे फलों का रस और स्मूदी आदि का भी भरपूर प्रयोग करना चाहिए |
मनीषा ने खुलासा किया, “गर्भावस्था के दौरान, एक महिला के रक्त की मात्रा बढ़ जाती है और इसलिए, पर्याप्त पानी पीने से कब्ज और dehydration जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है |

गर्भावस्था के दौरान सरल व्यायाम करना भी महत्वपूर्ण है, मनीषा चोपड़ा का कहना है की नियमित व्यायाम और सैर करने से नींद में सुधार होता है ,पीठ दर्द में राहत मिलती है और सूजन कम होती है , मूड ठीक रहता है और वजन नियंत्रित रहता है इसलिए यह आवश्यक है की रोज़ 30 मिनट की साधारण सैर और व्यायाम अवश्य करें |
उन्होंने निष्कर्ष निकाला, “हर गर्भवती महिला को पर्याप्त नींद लेनी चाहिए। इन 9 खूबसूरत महीनों के लिए एक स्वस्थ दिनचर्या का पालन करें और एक सुरक्षित और स्वस्थ प्रसव का आनंद लें ।”

प्रेगनेंसी में ताकत के लिए क्या खाना चाहिए ?

प्रेगनेंसी के दौरान अंडे ,हरी पत्तेदार सब्जियां ,फल ,गाजर ,मटर ,अनाज ,नारियल पानी और पानी का भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए |

प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते हैं |

गर्भधारण के 6 से 14 दिन बाद गर्बवस्था के शुरुआती लक्षण सामने आने लगते हैं |

प्रेगनेंसी का पहला लक्षण क्या है ?

प्रेगनेंसी का पहला लक्षण उलटी आना ,जल्दी -जल्दी टॉयलेट जाना ,सिर दर्द ,कब्ज़ की शिकायत होना ,क्रेविंग किस खास खाने को बोहत अधिक दिल करना आदि

Also Read This :Coronavirus: Why protein is extremely important in your COVID prevention diet

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here