Superfood: Best Food for Women’s health in India

0
145
Best-food-for-Womens-health
Best-food-for-Womens-health

महिलाएं अपने खाने में शामिल करें ये superfood और हमेशा स्वस्थ रहें (best food for women’s health, food for healthy uterus and ovaries, good food for women’s hormones the best vegetable for women’s health)
Superfoods: पोषण से भरपूर हैं ये सुपरफूड्स, महिलाएं अपने डाइट में जरूर शामिल करें

हम सभी जानते हैं की महिलाएं अक्सर अपने सेहत को नजरअंदाज करती हैं क्योंकि वे अपने प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ को संभालने में हमेशा busy रहती हैं |
महिलाएं अपने परिवार का पालन-पोषण पूरी ज़िम्मेदारी से करती हैं, लेकिन वह अपने स्वास्थ्य और खुद की देखभाल को पूरी तरह नज़रंदाज़ कर देती हैं | लेकिन यह बहुत जरूरी है कि महिलाएं अपनी सेहत के मूल्य को समझें और परिवार, काम और सामाजिक गतिविधियों के साथ ही अपने स्वास्थ्य का भी पूरा ख्याल रखें |हम आपके लिए लेकर आए हैं |

Best Food for Women’s health in India

हम सभी के शरीर के लिए एक संतुलित डाइट बहुत आवश्यक होती है | महिलाओं को पीरियड्स, प्रेग्‍नेंसी ओर मेनोपॉज जैसी चीजों से गुजरना होता है. इस दौरान बॉडी में कई तरह के हार्मोनल changes होते हैं ,खून की कमी हो जाती है ,कमज़ोर हड्डियाँ ,मधमेह रोग ,ब्रेस्ट कैंसर ,osteoporosis अधिकतर महिलाओं में होने वाले रोग है |यहाँ हम आपके लिए कुछ ऐसे superfood लेकर आए जिन्हें आप अपनी diet में शामिल करके अपने शारीर को स्वस्थ रख सकती हैं |

चलिए जानते हैं उन superfood के बारे में :-

Best food for women’s health

दूध : कैल्शियम और विटामिन डी की कमी महिलाओं में अक्सर देखि जाती है | जब तक उन्हें फ्रैक्चर या किसी भी प्रकार का हड्डी का नुकसान नहीं होता है, तब तक वे इसे पूरी तरह अनदेखा करती हैं | इसलिए, हड्डियों के टूटने और ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम से बचने के लिए ये आवश्यक है की महिलाओं को अपने रोज़ के आहार में दूध को शामिल करना चाहिए.

Best food for Women's health in India
Best food for Women’s health in India

दूध और संतरे का जूस- महिलाओं में कैल्शियम और विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकता है | ऐसे में महिलाओं को अपनी डाइट में लो फैट मिल्क या फिर संतरे का जूस जरूर शामिल करना चाहिए | इनसे शरीर को विटामिन D मिलता है,विटामिन D कैल्शियम को अवशोषित करने के लिए अति आवश्यक है बिना विटामिन डी के हड्डियाँ कैल्शियम absorb नहीं कर पाती | विटामिन डी कैल्शियम को शरीर तक पहुंचाने और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है | विटामिन D से महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम हो जाता है. डायबिटीज, मल्टीपल स्केलेरोसिस और ब्रेस्ट और ओवरी के ट्यूमर का खतरा भी कम हो जाता है | विटामिन डी और कैल्शियम के लिए आप दूध और ऑरेंज जूस को अपने रोज़ की डाइट में आवश्य शामिल करें.

टमाटर : टमाटर सेहत के लिए बहुत आवश्यक होता हैं | इसके अंदर लाइकोपीन नामक एक पोषक तत्व होता है, जो महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाने में काफी मदद करता है | टमाटर हमारी त्वचा को स्वस्थ रखता है और बढ़ती उम्र को रोकने में भी मददगार होता है|
टमाटर को महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सुपरफूड कहते है | इसमें पाया जाने वाला लाइकोपीन नाम का पोषक तत्व है जिसको हम पावरहाउस भी कह सकते हैं महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है और सिर्फ इतना ही नहीं रिसर्च के मुताबिक, लाइकोपीन महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाने का भी काम करता है | इसमें काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो दिल की बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करते है |

बीन्स : अगर हम बात करें बीन्स की तो यह प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होते हैं और इसमें वसा भी बहुत कम होता हैं. | इसका सेवन करने से हार्मोन को संतुलित रखने में मदद मिलती है |
बीन्स खाने से दिल की बीमारियाँ और ब्रेस्ट कैंसर दोनों के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है | महिलाओं के लिए बीन्स सबसे अधिक फायदेमंद है |

इसे खाने से हार्मोंस में balance बना रहता हैं | बीन्स खाने से ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को भी कम किया जा सकता है | बीन्स खाने से बेड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और पेरिमेनोपॉज के दौरान हार्मोंस में होने वाले बदलाव में स्थिरता आती है |

सोयाबीन :सभी महिलाओं को अपने रोज़ के आहार में सोयाबीन को अवश्य शामिल करना चाहिए | सोयाबीन प्रोटीन, आयरन और विटामिन बी का खज़ाना हैं |
महिलाओं के लिए प्रोटीन से भरपूर डाइट लेना बहुत ज़रूरी होता है |हर एक महिला को आपको खाने में प्रोटीन, आयरन और विटामिन बी से भरपूर भोजन को शामिल करना चाहिए |सोया के बने प्रोडक्ट जैसे सोया मिल्क, टोफू महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है.

दही : महिलाओं के लिए दही या लो फैट दही का सेवन करना भी बहुत ज़रूरी है | ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में अक्सर देखने को मिलता है दही ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम कर देती है | यह आँतों को स्वस्थ रखती है,अल्सर और योनि संक्रमण के जोखिम को भी रोकती है |
दही खाने से पेट से जुड़ी समस्याएँ भी दूर हो जाती हैं | यह हड्डियों को मजबूत बनाती है | दही कैल्शियम का अच्छा स्रोत है | जिन लोगों को दूध digest नहीं होता वह दूध की जगह दही का सेवन कर सकते हैं |
आपको अपने ब्रेकफास्ट, लंच या स्नैक में दही अवश्य शामिल करनी चाहिए |

मछली : महिलाओं को अपने आहार में सैल्मन, सार्डिन और मैकेरल मछली भी अवश्य शामिल करनी चाहिए | मछली ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती है | अगर आप मछली का सेवन करते है तो आपकी त्वचा की समस्या ,दिल के रोग, स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, अवसाद, जोड़ों का दर्द और सूजन की समस्या को कम किया जा सकता है |
मछली खाने से हाइपरटेंशन, डिप्रेशन, ज्वाइंट पेन और इंफ्लेमेशन से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है | मछली खाने से आप अल्जाइमर के खतरे से भी बचते हैं |

जामुन : जामुन महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होती हैं | महिलाओं को स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी, ब्लूबेरी और क्रैनबेरी को ज़रूर खाना चाहिए | जामुन विटामिन सी और फोलिक एसिड से भरपूर होते हैं | गर्भावस्था के दौरान भी जामुन खाने की सलाह दी जाती है | यह यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को रोकने में भी बहुत फायदेमंद होते हैं | यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में भी काफी सहायक होती है |

एवोकाडो– ये एक बहुत ही पौष्टिक फल है, एवोकाडो के अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर, विटामिन, मिनरल और हेल्दी फैट होते हैं | महिलाओं की बात करें तो उनके लिए एवोकाडो काफी फायदेमंद है | एवोकाडो में मोनोअनसैचुरेटेड फैट (MUFAs)होता है | एवोकाडो में फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है |
जिससे शरीर में सूजन की समस्या भी कम होती है |एवोकाडो खाने से हार्ट डिजीज, डायबिटीज, मेटाबॉलिक सिंड्रोम और कैंसर का खतरा भी कम हो सकता है |

आंवला- आंवला महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है | आंवला में सबसे अधिक विटामिन सी होता है |अगर आप रोजाना आंवला खाते हैं तो आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉग होती है | आंवला में विटामिन सी के अलावा पौटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ए, बी, फाइबर, प्रोटीन, आयरन और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है | पेट के लिए भी आंवला काफी अच्छा है |

Healthy food
Healthy food

पालक- महिलाओं को अपने भोजन में हरी सब्जियों का भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए | हरी सब्जियों में हर प्रकार के जरूरी विटामिन्स पाए जाते हैं | पालक महिलाओं के लिए अच्छा सोर्स ऑफ़ आयरन है | पालक से हमें प्रोटीन, आयरन, विटामिन बी, कैल्शियम और कई जरूरी मिनिरल्स मिलते हैं इसलिय हमें अपने आहार में पालक को शामिल करना चाहिए |

ड्राई फ्रूट्स- महिलाओं के लिए ड्राई फ्रूट्स भी बहुत आवश्यक हैं | मेवा खाने से हमारे शरीर को विटामिन ई, विटामिन बी12 और कई दूसरे पोषक तत्व मिलते हैं | जिससे शरीर स्वस्थ और ताकतवर बना रहता है |

सीड्स– महिलाएं अपनी डाइट में सीड्स ज़रूर शामिल करने चाहिए | सीड्स खाने से बाल, त्वचा और शरीर हमेशा फिट रहता है | आप तरबूज, कद्दू, चिया, अलसी और सूरजमुखी के मिक्स बीज अपने आहार में शामिल कर सकते हैं |

Food for healthy uterus and Ovaries:

Best food for Women's health
Best food for Women’s health

महिलाओं के शारीर में uterus एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग होता है | आपको बता दें की स्वस्थ गर्भाशय स्वस्थ प्रेगनेंसी के लिए अति आवशयक है |
uterus को healthy रखने के लिए आपको अपनी diet में कुछ healthy फ़ूड शामिल करने चाहिए क्यूंकि आप जो भी खाते हैं वो आपके प्रजनन तंत्र को प्रभावित करता है |इसलिए आपको अपनी diet में विटामिन डी, antioxident ,ओमेगा ३ फैटी एसिड जैसी चीज़ें शामिल करनी चाहिए | ये nutrients गर्भाशय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत आवशयक होते हैं |
तो चलिए जानते हैं की वो कौन से फ़ूड हैं जिसके इस्तेमाल से आप अपने uterus और ओवरिएस को healthy बना सकते हैं :

मजबूत गर्भाशय के लिए खाएं नट्स और बीज :-

सबसे पहले आप अपने फ़ूड में फाइबर युक्त फ़ूड को शामिल करें जिसके इस्तेमाल से toxic पदार्थ बाहर निकल जाते हैं | इसके लिए आप बिन्स ,हरी सब्जियां ,फल और साबूत अनाज का इस्तेमाल करें |

हार्मोन के अच्छे उत्पादन के लिए आपके शरीर को नट्स और बीज की जरूरत होती है। काजू, बादाम,अखरोट और अलसी जैसे बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड और कोलेस्ट्रॉल से भरपूर होते हैं। ये सभी पोषक तत्व गर्भाशय फाइब्रॉइड के ख़तरे को कम कर देते हैं, जिससे गर्भाशय के कैंसर का खतरा भी कम हो जाता है। इनमे पाया जाने वाला अच्छा कोलेस्ट्रॉल आपके सीरम कोलेस्ट्रॉल लेवल को बनाए रखने में मददद करता हैं। यह समय से पहले बच्चे के जन्म को रुकने में भी मददगार होते हैं इसलिए अपने भोजन में स्वाद के साथ पोषण के लिए नट्स और बीजों को शामिल करें।

​गर्भाशय की मजबूती के लिए अच्छे हैं डेयरी प्रोडक्ट्स:

दही, पनीर, दूध और मक्खन जैसे डेयरी उत्पाद में कैल्शियम और विटामिन डी बहुत अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं, जो गर्भाशय के स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक हैं। वैसे तो कैल्शियम हमारी हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है,लेकिन विटामिन डी गर्भाशय फाइब्रॉइड को दूर रखने में भी अहम भूमिका निभाता है।

फाइब्रॉइड के इलाज के लिए ग्रीन टी पीएं:

ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंटस से भरपूर होती है ये न केवल एक स्वस्थ गर्भायाय को बनाए रखने में मदद करती है, बल्कि गर्भाशय में फाइब्रॉइड का इलाज करने में भी कारगार साबित होती है। विशेषज्ञों का कहना है की अगर किसी महिला के गर्भाशय में फा्रइब्रॉइड है तो उसे लगभ्रग 8 सप्ताह तक निसमित रूप से ग्रीन टी पीनी चाहिए। यह फाइब्रॉइड की संख्या को कम करने में मदद करती है |

​स्वस्थ बच्चेदानी के लिए करें ताजा फलों का सेवन:

फलों के सेवन से हमें विटामिन सी और बायो फ्लेवेनॉइड जैसे कई पोषक तत्व मिलते हैं। यह आपके गर्भाशय में फाइब्रॉइड के विकास को रोकते हैं। फ्लेवेनॉइड्स प्रजनन तंत्र को स्वस्थ रखने और ओवेरियन कैंसर को रोकने में मददगार होते हैं। जब भी आपको भूख लगे, तो भोजन के बीच में फल खाने की आदत डालें । यह आपको जंक फूड खाने से रोकेगा और गर्भाशय को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति करेगा।

गर्भधारण करने के लिए खूब सब्जियां खाएं:

जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्कत आ रही है, उन्हें ज़्यादा मात्रा सब्जियों का सेवन करना चाहिए क्योंकि सब्जियां पेाटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन का बहुत अच्छा स्त्रोत हैं।अगर आप फाइब्रॉइड को दूर रखना चाहते कोशिश करें कि आपका आहार सब्जियों से भरपूर हो। फलियां, गोभी, ब्रोकली जैसी सब्जियां फाइटोएस्ट्रोजन से भरपूर होती हैं। इस प्रकार ये आपके एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने में बहुत मदद करता है जिससे आपके गर्भाशय में ट्यूमर का विकास नहीं हो पाता।
अगर आपका भी यटूरस कमजोर है, तो इसे स्वस्थ बनाने के लिए यहां बताए गए खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में अवश्य शामिल इनका सेवन करना आपके लिए बहुत फादेमंद साबित होगा। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर अपने डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें |

Good food for women’s hormones:-

Good food for women's hormones
Good food for women’s hormones

हमारे शरीर में हॉर्मोन्स की बहुत अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। हॉर्मोन्स हमारे शरीर के विकास में सहायक होते हैं साथ ही शरीर की अन्य गतिविधियों को भी नियंत्रित करते है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हॉर्मोन्स का स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक होता है। अगर हमारे शारीर के हॉर्मोन्स में असंतुलन हो जाता है तो हमारे शरीर में कई तरह की समस्याएं होने लगती है। हमारे शारीर में हॉर्मोन्स का असंतुलन कई कारणों से होता है। खाने को लेकर की जाने वाली लापरवाही हॉर्मोन्स में असुंतलन होने का प्रमुख कारण होता है। इसलिए हमें खाने के लेकर काफी सजग रहना चाहिए।

खाने में ये करें शामिल
1- हमें हमेशा कम वसा वाले भोजन का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा अधिक रेशेदार वाला खाना खाएं।
2- हमें अपने खाने में ओमेगा-3 और ओमेगा-6 युक्त फैटी एसिड वाले खाने को शामिल करना चाहिए । यह हर्मौनल संतुलन बनाए रखने में काफ़ी सहायक होता है।
3- हमें अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। शरीर में पानी की कमी न होने दें।
4- खाने में नेचुरल फूड को अवश्य शामिल करें। इसके साथ ही सब्जियां और फाइबर फूड खाएं।
5- प्रोटीन को अपने खाने में इस्तेमाल करें।

Also Read this: Pregnancy Tips: Fitness tips every pregnant woman should know

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here